गर्भाशय (बच्चेदानी) के कैंसर का इलाज | Uterine (Endometrial) Cancer Treatment in Hindi

अगर किसी को एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर होने के कोई संकेत या लक्षण दिखाई दें, तो रोग की पहचान के लिए कुछ जांच की जानी ज़रूरी हैं और इससे रोग की स्टेज जानकार इसका उचित इलाज किया जा सकता है।

एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर के इलाज विकल्प कई कारकों पर निर्भर करते हैं, जिसमें लिवर बीमारी की स्टेज, ट्यूमर का ग्रेड, रोगी की प्राथमिकता (जैसे, प्रजनन क्षमता को बनाए रखना है या नहीं), रोगी की स्थिति सहित अन्य कारक मौजूद है।

एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर की विभिन्न स्टेजों के लिए इलाज | Treatment for different Stages of Endometrial Cancer in Hindi

FIGO स्टेज I

स्टेज I का एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर होने पर, हिस्टेरेक्टॉमी/hysterectomy के बाद, रोगी की देख-रेख की जानी चाहिए या स्टेज, ग्रेड और अन्य ख़तरों के कारकों के आधार पर कीमोथेरेपी के साथ/बिना रेडिएशन थेरेपी दी जा सकती है।

FIGO स्टेज II

स्टेज II का एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर होने पर, हिस्टेरेक्टॉमी/hysterectomy के बाद, रोगी की ज़्यादातर मामलों में कीमोथेरेपी के साथ/बिना रेडिएशन थेरेपी दी जाती है।

FIGO स्टेज III

स्टेज III का एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर होने पर, कीमोथेरेपी और/या रेडियोथेरेपी के बाद सर्जरी (केवल तभी की जाती है जब सभी कैंसर टिश्यु को हटाया जा सकता हो) को प्राथमिक इलाज माना जाता है।

FIGO स्टेज IV

स्टेज IV का एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर होने पर, हार्मोन थेरेपी या कीमोथेरेपी को आमतौर पर प्राथमिक इलाज माना जाता है।
लक्षणों में राहत देने के लिए सर्जरी और रेडियोथेरेपी को भी पैलिएटिव ट्रीटमेंट की तरह हार्मोन थेरेपी या कीमोथेरेपी के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।

एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर के विभिन्न इलाज का संक्षिप्त विवरण | Overview of Endometrial Cancer Treatment Options

सर्जरी (Surgery)

सर्जरी (Surgery)

 

कई शुरूवाती स्टेज और कुछ बड़ी स्टेज के एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर के लिए सर्जरी प्राथमिक इलाज है।  एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर में सर्जरी करने के मुख्य रूप से 2 उद्देश्य होते हैं: रोग को स्टेज करना/stage the disease और दूसरा रोग के इलाज के लिए कैंसर के ज़्यादा से ज़्यादा टिश्यु को हटा देना। स्टेजिंग के लिए, सर्जरी के दौरान निकाले गए टिश्यु की प्रयोगशाला में अच्छी तरह जाँच की जाती है।

यह स्टेज का सही तरह से पता लगाने में मदद करता है और इससे रोग के लिए सही इलाज चुना जा सकता है। हिस्टेरेक्टॉमी/Hysterectomy को आमतौर पर एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर के प्रबंधन के लिए/management of endometrial cancer इस्तेमाल किया जाता है।  पूर्ण हिस्टेरेक्टॉमी/hysterectomy में, पूरे गर्भाशय/uterus को हटा दिया जाता है और वाकि सभी अंग सलामत रहते हैं। एक रेडिकल हिस्टेरेक्टॉमी/hysterectomy में, गर्भाशय/uterus और साथ जुड़े टिश्यु को हटाया जाता है जैसे पैरामीरिया/parametria, गर्भाशय स्नायुबंधन/uterus ligaments, योनि का हिस्सा, पेल्विक लिम्फ नोड्स/pelvic lymph nodes, और फैलोपियन ट्यूब/fallopian tubes और अंडाशय।

एंडोमेट्रियल कैंसर/अंतर्गर्भाशयकला कैंसर के लिए हिस्टेरेक्टॉमी/hysterectomy और BSO की वजह से बांझपन/infertility हो सकता है और इसीलिए इसे पोस्टमेनोपॉज़ल/postmenopausal महिलाओं या उन लोगों में किया जाता है जो प्रजनन क्षमता को बरकरार नहीं रखना चाहते हैं।

रेडिएशन थेरेपी (Radiation Therapy)

रेडिएशन थेरेपी (Radiation Therapy)

 

रेडिएशन थेरेपी (या रेडियोथेरेपी) में तेज़ ऊर्जा विकिरण का इस्तेमाल होता है जिसे कैंसर सेल को मारने के लिए उनपर सीधा डाला जाता है। इसे बाहरी रेडिएशन साधन (बाहरी बीम रेडिएशन थेरेपी) से किया जा सकता है या रेडिएशन साधन को कैंसर ऊतकों के पास (ब्रैकीथेरेपी) रखा जा सकता है।

कीमोथेरेपी (Chemotherapy)

कीमोथेरेपी (Chemotherapy)

 

कीमोथेरेपी कैंसर विरोधी दवा से किया जाने वाला इलाज है जिससे तेज़ी से बढ़ने वाले कैंसर सेल को मारा या काम किया जाता है। इसे आगे की स्टेज वाली रोग के लिए मुख्य इलाज माना जाता है जब बिमारी पास के भागों में भी पहुँच गयी हो। चिकित्सक की राय और मरीज़ की हालत के अनुसार, इसके साथ अन्य इलाज भी जोड़े जा सकते हैं जिससे इलाज का लाभ जल्दी मिल सके।

Posts created 29

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top